यूपी: योगी सरकार के खिलाफ जातिगत सर्वे करा रही थी आम आदमी पार्टी, दर्ज हुआ मुकदमा

0
145
योगी सरकार का नया फरमान, कहा-दुर्गा पूजन पर न करें सार्वजनिक आयोजन, ये है वजह
योगी सरकार का नया फरमान, कहा-दुर्गा पूजन पर न करें सार्वजनिक आयोजन, ये है वजह

लखनऊ । यूपी की राजनीति में आम आदमी पार्टी की दस्तक दिनों बढ़ती चली जा रही है जिसकी वजह से भाजपा और बसपा को खासी दिक्कत हो रही है। इसी बीच यूपी में एक खास जातिगत सर्वे को लेकर अहम खुलासा हुआ है। जानकारी के मुताबिक आम आदमी पार्टी के वरिष्‍ठ नेता संजय सिंह ने कबूल किया है कि आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता एक खास जातिगत सर्वे का काम कर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि इसके एवज में उनके ऊपर योगी सरकार ने मुकदमा दर्ज कराया है। आपको बता दें कि इस संबंध में हजरतगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है।

संजय सिंह ने स्‍वीकार किए आरोप

इस मामले में संजय सिंह ने बताया कि हमने सर्वे कराया है और इसमें कुछ भी गलत नहीं है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार एक जाति विशेष के लिए काम कर रही है। पार्टी ने लोगों से यही तो पूछा है कि क्या योगी सरकार एक जाति विशेष के लिए ही काम कर रही है। इसमें गलत क्या है? फिर सर्वे के नतीजे आने से पहले ही सरकार में इतनी बौखलाहट क्यों हो गयी है? उन्होंने कहा कि सरकार इसकी जांच पड़ताल में जनता के पैसे न खर्च करे क्योंकि सर्वे हमने कराया है और जो कुछ पूछताछ करनी है सीधे मुझसे की जाये। उन्होंने ये भी कहा कि भाजपा के ही कई विधायकों ने सरकार पर जातिवादी होने के आरोप लगाये हैं। इस मामले में संजय सिंह ने विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल का नाम लिया है। संजय सिंह ने ये भी कहा कि सूबे में ब्राह्मणों और दलितों की हत्या करना अपराध नहीं है लेकिन, योगी सरकार जातिवादी है या नहीं ये सर्वे कराना अपराध है।

इस सन्दर्भ में भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ल ने कहा कि आम आदमी पार्टी के पास कोई ठोस मुद्दा नहीं है इसलिए वह जातिगत राजनीति पर उतर आये है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने विकास की नई इबारत लिखी है हम विकास कर रहे हैं इसलिए दूसरी पार्टियां जाति को बीच में ला रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here