सीएम योगी ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का निरीक्षण, तेजी से निर्माण पूरा करने के निर्देश

0
71
सीएम योगी ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का निरीक्षण, अधिकारियों को तेजी से निर्माण कार्य पूरा करने के निर्देश
सीएम योगी ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का निरीक्षण, अधिकारियों को तेजी से निर्माण कार्य पूरा करने के निर्देश
लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के सभी पैकेजो का निरीक्षण किया।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मार्च, 2021 तक पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के सभी कार्य पूर्ण करते हुए अप्रैल, 2021 में यातायात प्रारम्भ करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि निरन्तर मॉनिटरिंग करते हुए मेन कैरिज-वे के साथ ही सर्विस लेन का कार्य भी पूर्ण किया जाए। इसके लिए आवश्यकतानुसार मैनपावर बढ़ाकर कार्यों को पूरी गुणवत्ता के साथ समय से कराया जाए।
उन्होंने हवाई सर्वेक्षण तथा स्थलीय निरीक्षण कर परियोजना की अद्यतन प्रगति को मौके पर परखा। धरवांकला, जनपद गाजीपुर से आज सुबह स्थलीय निरीक्षण प्रारम्भ करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद आजमगढ़, सुल्तानपुर, अयोध्या होते हुए लखनऊ पहुंचकर निरीक्षण कार्य समाप्त किया। प्रत्येक जनपद में निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने परियोजना के निर्माण की स्थिति की विस्तृत समीक्षा की तथा अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने निरीक्षण स्थल पर जनप्रतिनिधियों तथा जनता से संवाद भी किया। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पूरा होने पर दुनिया देखेगी कि 3 साल में पूर्ण किए जाने के लक्ष्य के साथ वर्ष 2018 में प्रारम्भ की गई यह परियोजना, वैश्विक महामारी कोविड-19 के बावजूद 03 साल से पहले ही जनता को समर्पित की जाएगी। ऐसी विपरीत परिस्थितियों में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्बाध गति से निर्माण एक मिसाल है।
उन्होंने कहा कि विकास का यह मॉडल देश-दुनिया के लिए आकर्षण का केन्द्र बनते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश के नौजवानों के लिए नौकरी और रोजगार की व्यापक सम्भावनाएं लाएगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना देश में गुणवत्ता व समयबद्धता का एक उदाहरण बनेगी।  प्रधानमंत्री  के मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश के सर्वांगीण विकास की रूपरेखा आज से लगभग 4 वर्ष पूर्व प्रारम्भ की गई थी।
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रधानमंत्री  के मार्गदर्शन में पूर्वांचल की जनता के लिए निर्मित किया जा रहा यह एक्सप्रेस-वे उसी श्रृंखला का हिस्सा है। यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल क्षेत्र में विकास की अनन्त सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से बनाया जा रहा है। इसलिए कार्यदायी संस्था, कॉन्ट्रैक्टर तथा स्थानीय जनता इसके समयबद्ध निर्माण के लिए कोई कोर कसर न छोड़े। 06 लेन का यह एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल के सर्वांगीण विकास की रूपरेखा तैयार करने वाला एक मार्ग होगा।विकास की इस प्रक्रिया में सकारात्मक भाव के साथ जुड़कर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य को समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी प्रत्येक चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए कृतसंकल्पित हैं। इस संकल्प को साकार करने के लिए राज्य सरकार द्वारा विकास के माध्यम से किए जा रहे प्रयासों में उन्होंने सभी के सहयोग की अपेक्षा की।
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बन जाने पर व्यापक स्तर पर रोजगार एवं नौकरी की सम्भावनाएं उपलब्ध होंगी। इससे हमारे युवाओं को रोजगार व नौकरी के लिए अन्य राज्यों या दूसरे देशों की ओर नहीं जाना पड़ेगा, बल्कि अन्य जगहों के लोगों को भी नौकरी और रोजगार यहीं प्राप्त होगा। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पूरा हो जाने पर हमारे युवा अपनी प्रतिभा और ऊर्जा का उपयोग उत्तर प्रदेश के विकास के लिए कर पाएंगे। इस परियोजना के अन्तर्गत औद्योगिक क्लस्टर्स भी विकसित किए जाएंगे।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना काल में गतिविधियां अस्त-व्यस्त हो गई थीं, लेकिन अब कोरोना पर नियंत्रण किया जा चुका है। इसके बावजूद अभी भी पूरी सावधानी बरतना आवश्यक है। 2 स्वदेशी वैक्सीन विकसित करते हुए लोगों को कोरोना से सुरक्षित करने वाला भारत दुनिया का एक मात्र देश है। इस कार्य के लिए प्रदेश की जनता की ओर से प्रधानमंत्री  का हृदय से अभिनन्दन करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत ने वैक्सीन का सफलतापूर्वक निर्माण करते हुए इसे दुनिया के सामने प्रस्तुत किया। विकास का यही मॉडल हमारे जीवन में और अधिक खुशहाली लाने के लिए आवश्यक है। इसी दृष्टि से वे आज सुबह से एक्सप्रेस-वे का निरीक्षण करने के लिए निकले हैं।
Attachments area

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here